Latest New Shayari | Best shayari In Hindi

kuchh hame samajh me aata
tab tak bahut der hogaya tha
Raste khul ne se pahele sab
darbaje band hogaya tha
chand hame oshani de rahi thi
par ghar me andhera ho raha tha
kuchh hame samajh me aata
tab tak bahut der hogaya tha

कुछ हमें समझ में आता है
तब तक बहुत डर होगा था
रस्ते खुल ने से पहले सबे
दरबजे बंद होगा था
चांद हमें ओशानी दे रही थी
पर घर में अँधेरा हो रहा था
कुछ हमें समझ में आता है
तब तक बहुत डर होगा था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *